Book Appointment
data-menu-height="83" data-scroll-height="40">
Timings: MON - SAT 09:00 - 22:00
Main Branch: Div. No. 3 Chowk, Samrala Road, Ludhiana

पेट की स्वस्थ आदतें हड्डियों को मजबूत रखने में कैसे मदद करती हैं?

ENQUIRY FORM

पेट की स्वस्थ आदतें हड्डियों को मजबूत रखने में कैसे मदद करती हैं?

समग्र कल्याण के लिए हड्डियों को मजबूत और स्वस्थ बनाए रखना महत्वपूर्ण है, फिर भी केवल कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन के अलावा कई कारक हड्डियों के स्वास्थ्य में योगदान करते है। हाल के वैज्ञानिक अध्ययनों ने पेट के स्वास्थ्य और हड्डियों की मजबूती के बीच एक अप्रत्याशित संबंध का खुलासा किया है। परंपरागत रूप से, हड्डियों का स्वास्थ्य आनुवंशिकी, आहार और शारीरिक गतिविधि जैसे कारकों से जुड़ा हुआ है। हालांकि, उभरते शोध ने हड्डियों के स्वास्थ्य को प्रभावित करने में आंत माइक्रोबायोम की भूमिका पर प्रकाश डाला है।

 

पाचन तंत्र में रहने वाले खरबों बैक्टीरिया एक जटिल समुदाय बनाते है जिसे आंत माइक्रोबायोम के रूप में जाना जाता है। यह रोगाणु पाचन, प्रतिरक्षा और अब ऐसा प्रतीत होता है, हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। आंत माइक्रोबायोम कैल्शियम, मैग्नीशियम और विटामिन डी जैसे आवश्यक पोषक तत्वों के अवशोषण को प्रभावित करता है जो मजबूत हड्डियों को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। इसके अतिरिक्त जो रसायन बैक्टीरिया की आंत में होते है वे सूजन को नियंत्रित करते है और हड्डियों के विकास और पुनर्जीवन के बीच संतुलन को प्रभावित करते है। इस प्रक्रिया में असंतुलन के परिणामस्वरूप हड्डियां कमजोर हो सकती है और फ्रैक्चर का खतरा अधिक हो सकता है।     

 

आपकी बड़ी आंतों में जटिल कार्बोहाइड्रेट के टूटने से शॉर्ट-चेन फैटी एसिड (एससीएफए) बनता है जो आपकी हड्डियों के लिए अच्छे कैल्शियम और खनिजों के अवशोषण को बढ़ाकर हड्डियों के द्रव्यमान की रक्षा करने में मदद करता है। वे ऑस्टियोब्लास्ट (हड्डियों का निर्माण करने वाली कोशिकाएं) का भी समर्थन करते हैं और मदद करते हैं ऑस्टियोक्लास्ट (कोशिकाएं जो हड्डी को तोड़ती हैं) को बाधित करती हैं।

 

आंत और हड्डी के स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए व्यावहारिक सुझाव

 

  • विविध आहार: फाइबर, फल, सब्जियां, साबुत अनाज और किण्वित खाद्य पदार्थों से भरपूर आहार लें। यह लाभकारी बैक्टीरिया को पोषण प्रदान करके स्वस्थ आंत माइक्रोबायोम को बढ़ावा देता है। 
  • प्रोबायोटिक्स और प्रीबायोटिक्स:प्राकृतिक प्रोबायोटिक्स (जैसे दही, केफिर, और साउरक्रोट) और प्रीबायोटिक्स (जैसे लहसुन, प्याज और केले) वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें। यह लाभकारी आंत बैक्टीरिया के विकास में सहायता करते है। 
  • पर्याप्त पोषक तत्व का सेवन: कैल्शियम, ,मैग्नीशियम, विटामिन डी और विटामिन के 2 का पर्याप्त सेवन सुनिश्चित करें। ये पोषक तत्व, जो स्वस्थ हड्डियों को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल अवशोषण से प्रभावित होते हैं।
  • चीनी और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों को सीमित करें: प्रसंस्कृत आहार और उच्च चीनी वाले खाद्य पदार्थ आंत के वनस्पतियों को बदल सकते हैं और सूजन पैदा कर सकते हैं, जिससे हड्डियों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।
  • शारीरिक गतिविधि:नियमित वजन उठाने वाले व्यायाम, जैसे चलना, जॉगिंग और प्रतिरोध प्रशिक्षण, हड्डियों के घनत्व और समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं।
  • तनाव प्रबंधन: दीर्घकालिक तनाव आंत-मस्तिष्क अक्ष को बाधित कर सकता है और आंत के स्वास्थ्य पर प्रभाव डाल सकता है। योग, ध्यान या गहरी सांस लेने जैसे विश्राम व्यायाम का अभ्यास करें।
  • पर्याप्त नींद: गुणवत्तापूर्ण नींद को प्राथमिकता दें, क्योंकि यह आंत के स्वास्थ्य और हड्डियों के पुनर्जनन दोनों में योगदान देती है।
  • एंटीबायोटिक दवाओं के अत्यधिक उपयोग से बचें: अत्यधिक एंटीबायोटिक का उपयोग आंत के माइक्रोबायोम को बाधित कर सकता है। एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग केवल तभी करें जब आवश्यक हो और चिकित्सकीय देखरेख में हो।

 

जब आप कैल्शियम युक्त प्रोटीन खाते है तो आपको दो-के-एक लाभ मिलता है। उदाहरणों में डिब्बाबंद सैल्मन (हड्डियों के साथ) या सार्डिन, बीन्स, डेयरी उत्पाद (पनीर, दही, पनीर, दूध), पत्तेदार सब्जियाँ और मेवे शामिल हैं। स्वस्थ हड्डियों को सुनिश्चित करने का सबसे अच्छा तरीका न केवल सही खानपान है बल्कि एक स्वस्थ जीवनशैली भी बनाए रखना है जिसमें दैनिक वजन उड़ने वाला व्यायाम (जैसे तेज चलना और वजन प्रशिक्षण), शराब का सेवन सीमित करना और धूम्रपान न करना शामिल है। जीवनशैली की यह सभी आदतें एक अन्य लाभ से जुड़ी हुई है। इन “टू-फ़र्स” का लाभ उठाएं और यदि आप पहले से ऐसा नहीं कर रहे हैं तो अपनी हड्डियों की रक्षा करें।

About The Author

kalyan_new

No Comments

Leave a Reply

Enter Your Details