Book Appointment
data-menu-height="83" data-scroll-height="40">
Timings: MON - SAT 09:00 - 22:00
Main Branch: Div. No. 3 Chowk, Samrala Road, Ludhiana

रूमेटाइड आर्थराइटिस से बचाव के क्या है लक्षण, कारण व निदान के तरीके ?

ENQUIRY FORM

रूमेटाइड आर्थराइटिस से बचाव के क्या है लक्षण, कारण व निदान के तरीके ?

रूमेटाइड आर्थराइटिस यानी गठिया एक पुरानी ऑटोइम्यून बीमारी है, जो दुनिया भर में लाखों लोगों को प्रभावित करती है। वहीं इस ब्लॉग पोस्ट में, हम रूमेटाइड आर्थराइटिस के लक्षण, कारण और रोकथाम के तरीकों के बारे में पता लगाएंगे;

रूमेटाइड आर्थराइटिस (RA) या गठिया के लक्षण क्या है ?

  • आरए के सामान्य लक्षणों में जोड़ों का दर्द, जकड़न और सूजन शामिल है। ये लक्षण आम तौर पर कई जोड़ों को प्रभावित करते है, और वे सुबह या निष्क्रियता की अवधि के बाद अधिक स्पष्ट होते है।
  • RA (रूमेटाइड आर्थराइटिस) से थकान भी हो सकती है, क्योंकि प्रतिरक्षा प्रणाली गलती से स्वस्थ संयुक्त ऊतकों पर हमला करती है, जिससे सूजन हो जाती है। इस पुरानी सूजन के परिणामस्वरूप जोड़ों में विकृति और गंभीर मामलों में विकलांगता हो सकती है। 

रूमेटाइड आर्थराइटिस (RA) या गठिया के कारण क्या है ?

  • RA का सटीक कारण अज्ञात है, लेकिन ऐसा माना जाता है कि यह आनुवंशिक और पर्यावरणीय कारकों के संयोजन का परिणाम है। 
  • वहीं इसका एक संभावित कारण धूम्रपान है। शोध से पता चला है कि धूम्रपान से आरए विकसित होने का खतरा काफी बढ़ सकता है, खासकर आनुवंशिक संवेदनशीलता वाले लोगों में। 
  • रूमेटाइड आर्थराइटिस की समस्या से बचाव के लिए आपको लुधियाना में बेस्ट आर्थोपेडिक सर्जन का चयन करना चाहिए।

रूमेटाइड आर्थराइटिस (RA) की रोकथाम के तरीके क्या है ?

धूम्रपान छोड़ें : 

यदि आप धूम्रपान करने वाले है, तो आरए के जोखिम को कम करने के लिए इसे आज ही छोड़ दें। 

स्वस्थ जीवनशैली को बनाए रखें : 

संतुलित आहार खाने और शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली और जोड़ों को अच्छे आकार में रखने में मदद मिल सकती है। 

तनाव को कम करें : 

दीर्घकालिक तनाव प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर कर सकता है, जिससे संभावित रूप से आरए जैसी ऑटोइम्यून बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। ध्यान, योग या गहरी साँस लेने के व्यायाम जैसी तनाव कम करने वाली तकनीकों का अभ्यास करें।

प्रारंभिक जांच और उपचार : 

यदि आपको संदेह है कि आपको आरए हो सकता है या लक्षणों का अनुभव हो सकता है, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें। शीघ्र निदान और उपचार से स्थिति को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने और जोड़ों की क्षति को रोकने में मदद मिल सकती है। लेकिन समस्या अगर बढ़ गई है तो इसके लिए आपको लुधियाना में बेस्ट आर्थोपेडिक सर्जरी का चयन करना चाहिए।

नियमित जांच करवाए : 

भले ही आपमें लक्षण न हों, आपके स्वास्थ्य सेवा प्रदाता के साथ नियमित जांच आपके समग्र स्वास्थ्य की निगरानी करने में मदद कर सकती है। 

दवा लेने का ध्यान रखें : 

यदि आपका पहले से ही आरए का निदान किया गया है, तो आपके निर्धारित दवा आहार का पालन करना आवश्यक है। 

इलाज क्या है रूमेटाइड आर्थराइटिस का !

रूमेटाइड आर्थराइटिस का इलाज कई तरह से किया जाता है, जैसे आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक और एलोपैथिक तरीके से। अगर आप इस बीमारी से पीड़ित है, तो जल्द से जल्द एक अनुभवी रुमेटोलॉजिस्ट या हड्डी रोग विशेषज्ञ (आर्थोपेडिक सर्जन) से परामर्श करना चाहिए ताकि जल्द से जल्द इसका उचित इलाज किया जा सके।

वहीं आप इसका इलाज कल्याण हॉस्पिटल से भी करवा सकते है। 

निष्कर्ष : 

याद रखें, जोड़ों की क्षति को कम करने और जीवन की अच्छी गुणवत्ता बनाए रखने के लिए शुरुआती पहचान और प्रभावी उपचार महत्वपूर्ण है।

About The Author

kalyan_new

No Comments

Leave a Reply

Enter Your Details