data-menu-height="83" data-scroll-height="40">
Timings: MON - SAT 09:00 - 22:00
Main Branch: Div. No. 3 Chowk, Samrala Road, Ludhiana

क्या है पीसीएल (PCL) इंजरी और इसको ठीक करने के लिए कौन-से तरीके है मददगार ?

ENQUIRY FORM

क्या है पीसीएल (PCL) इंजरी और इसको ठीक करने के लिए कौन-से तरीके है मददगार ?

कई बार हमारे घुटने में कुछ इस तरह की चोट लग जाती है, जिसके कारण हमे काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है, और ये चोट कई बार हमारे द्वारा नज़रअंदाज़ किया जाता है, पर इन चोटों को किस तरह से हम ठीक कर सकते है इसके बारे में आज के लेख में हम चर्चा करेंगे ;

क्या है पीसीएल (PCL) इंजरी ?  

  • पीसीएल जिसका फुल फॉर्म पोस्टीरियर क्रूसिएट लिगामेंट (PCL) इंजरी है। दरअसल यह घुटने के पिछले हिस्से के साथ-साथ चलती है और हमारी जांघ की हड्डी को निचले पैर की हड्डी के ऊपर से जोड़ती है। 
  • यह लिगामेंट हड्डियों को सही जगह पर रखता है और आपके घुटने को सुचारू रूप से चलने में मदद करता है। वहीं जब पीसीएल में मोच आ जाती है या ये फट जाते है, तो इसे पोस्टीरियर क्रूसिएट लिगामेंट इंजरी कहते है और साथ ही ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए, और इस इंजरी को आपके द्वारा नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए।

PCL इंजरी के बारे में विस्तार से जानने के लिए आप लुधियाना में बेस्ट ऑर्थो डॉक्टर का चयन कर सकते है।

लिगामेंट किसे कहा जाता है ? 

  • लिगामेंट मोटे, लोचदार, रेशेदार ऊतक बैंड होते है, जो हड्डियों को जोड़ों से जोड़ते है। वहीं इनका काम हड्डियों को जोड़ने का भी होता है। 
  • इसके अलावा लिगामेंट जोड़ों को सहारा देते है और गति को नियंत्रित करते है। 
  • वहीं शरीर के अंग जैसे टखने, कोहनी, कंधे, कलाई, घुटने के जोड़ लिगामेंट से घिरे होते है।
  • हमारे शरीर में 900 से अधिक लिगामेंट होते है, जो अंगों, जोड़ों और हड्डियों को जोड़ने में सहायक होते है। 
  • इन लिगामेंट का काम उन्हें अपने-अपने स्थान पर बनाए रखने में भी मदद करते है। वहीं ये लिगामेंट बहुत सारी कार्यप्रणाली संभालते है जिसमें मांसपेशियों और जोड़ों को स्थिर करना शामिल है। इसके अतिरिक्त, वे हड्डियों को एक साथ रखते है और अव्यवस्था से बचाते है।

पीसीएल (PCL) शरीर को कैसे प्रभावित करती है ?

  • लिगामेंट में एक आंशिक आंसू मौजूद होता है।
  • लिगामेंट पूरी तरह से फटा हुआ है और घुटना अस्थिर है।
  • पीसीएल घायल हो गया है और एक अन्य घुटने के लिगामेंट का क्षतिग्रस्त होना।

पीसीएल चोट के क्या कारण है ?

  • यदि कोई व्यक्ति मुड़े हुए घुटने के बल कहीं से गिरे तो चोट लग सकती है।
  • जब किसी के साथ दुर्घटना हो जाती है या गिर जाता है जिसके परिणामस्वरूप घुटने में अव्यवस्था हो जाती है।
  • जब कोई व्यक्ति गलत तरीके से छलांग लगाता है और जमीन में वापस आ जाता है।
  • जब घुटने पर जोरदार प्रहार होता है, उदाहरण के लिए, किसी मोटर वाहन की टक्कर।
  • यदि घुटना अत्यधिक फैला हुआ हो या अचानक आकर मुड़ गया हो।

पीसीएल (PCL) चोट के लक्षण क्या है ?

  • दर्द, सूजन और अस्थिरता का सामना करना। 
  • सुनता महसूस करना। 
  • लिगमेंट या कार्टलेज जैसी चोट की समस्या का सामना करना आदि। 

पीसीएल (PCL) इंजरी को इलाज की मदद से कैसे ठीक किया जा सकता है ?

  • अगर आपको PCL चोट के कारण चलने फिरने में समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो इसके बचाव के लिए आपको बैसाखी का सहारा लेना पड़ सकता है। 
  • कुछ मामलों में डॉक्टर घुटने की अस्थिरता को दूर करने के लिए घुटने को तारों से बांधते है, जो पीसीएल का एक सामान्य लक्षण है।
  • शारीरिक उपचार या कुछ व्यायाम आपके घुटने को मजबूत और स्थिर करने में आपकी मदद कर सकते है।
  • अगर आपके पीसीएल की चोट गंभीर है, तो डॉक्टर ऐसे में सर्जरी की सलाह देते है। वहीं ज्यादातर मामलों में, लिगामेंट की मरम्मत के लिए घुटने की आर्थ्रोस्कोपी की जाती है। वहीं इस प्रक्रिया में सर्जरी की तुलना में रोगी को कम दर्द होता है।

सुझाव :

  • यदि आपको लगें की कभी भी आपके पैर में हल्की सी भी चोट लगी हो तो इससे बचाव के लिए आपको जल्द डॉक्टर के संपर्क में आना चाहिए। और इस चोट को कृपया नज़रअंदाज़ न करें। 
  • यदि आपको PCL इंजरी के बाद आपके हाथ या पैर जैसे क्षेत्रों में सुन्नता का महसूस हो तो इसके लिए आप लुधियाना में बेस्ट स्पाइन सर्जन का चयन कर सकते है।

PCL इंजरी से बचाव के लिए बेस्ट हॉस्पिटल !

अगर आपके पैर में काफी गंभीर चोट लग गई है, जिसकी वजह से आपका चलना फिरना काफी मुश्किल होता जा रहा है, तो इससे बचाव के लिए आपको कल्याण हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। वहीं डायरेक्ट इस चोट के लिए आपको सर्जरी का सहारा नहीं लेना चाहिए जब तक की आप अपने पैरों का स्कैन न करवा लें।

सारांश :

घुटने में चोट का लगना काफी गंभीर समस्या है, व्यक्ति के लिए क्युकी बिना स्वास्थ्य घुटने के व्यक्ति का चलना फिरना क़ाफी मुश्किल हो जाता है। वहीं घुटने में दर्द की समस्या से हम कैसे खुद का बचाव कर सकते है इसके बारे में हम उपरोक्त बता ही चुके है। इसलिए जरूरी है की स्थिति को ज्यादा गंभीर होने से बचाने के लिए आपको डॉक्टर के संपर्क में आना चाहिए।

About The Author

kalyan_new

No Comments

Leave a Reply