data-menu-height="83" data-scroll-height="40">
Timings: MON - SAT 09:00 - 22:00
Main Branch: Div. No. 3 Chowk, Samrala Road, Ludhiana

लगातार जोड़ों में दर्द दे सकती है कई भयानक बीमारियों को जन्म !

ENQUIRY FORM

लगातार जोड़ों में दर्द दे सकती है कई भयानक बीमारियों को जन्म !

जोड़ो में दर्द की समस्या व्यक्ति को काफी परेशान करती है उसके रोजाना के कार्य को जारी रखने में। ये समस्या क्यों होती है और इसको हम कैसे ठीक कर सकते है इसके बारे में बात करेंगे आज के आर्टिकल में, इसलिए जोड़ो में दर्द की समस्या के बारे में जानने के लिए आर्टिकल के साथ अंत तक जरूर से जुड़े रहे ;

जोड़ो का दर्द क्या है ?

  • जोड़ो में दर्द शब्द का इस्तेमाल सभी परिस्थिती में नही किया जाता। जैसे हम इसका इस्तेमाल सूजन और जलन से संबंधीत बीमारी के साथ नहीं कर सकते है। 
  • एक ही जगह पर लंबे समय तक बैठे रहने से भी जोड़ों में दर्द की समस्या उत्पन हो जाती है।
  • जोड़ो का दर्द कई बार सामान्य से ज्यादा हो जाता है जिससे व्यक्ति हो अत्यधिक पीड़ा तो होती ही है साथ में उसका चलना भी मुश्किल हो जाता है।

हड्डियों या जोड़ो से जुडी हुई कोई भी समस्या है तो इसके लिए आप लुधियाना में बेस्ट स्पाइन सर्जन का चयन करे।

जोड़ो में दर्द के कारण क्या है ?

  • जोड़ो में दर्द के कई कारण हो सकते है । जैसे बहुत अधिक काम करना, वायरस से होने वाला बुखार, कमज़ोरी, कुपोषण या किसी विशेष मुद्रा में बैठे रहने से थकान का होना, संक्रमण, चोट/मोच, प्रतिरक्षित तंत्र की खराबी, ऐलर्जी संबंधी (दवाओ) से, बढती उम्र और विकृत बीमारीयो के कारण हो सकता है। 
  • लेकिन ज़रूरी नहीं की ऐसा होने वाला हर दर्द गठिया हो। तो वही दो हड्डीयो के बीच चबनी हड्डी (कार्टलिज) जोड़ो के लिये एक गद्दे का काम करता है जिसके कारण जोड़ो में निर्विघ्न (स्मूथ) और दर्दरहित हरकत संभव हो पाता है। और हमारे जोड़ो में अगर दर्द की समस्या होती है तो समझ ले कि चबनी हड्डी में कोई खराबी है।

घुटने या जोड़ो के दर्द के जो भी कारण है इसके बारे में जानने के लिए लुधियाना में बेस्ट ऑर्थो डॉक्टर का चयन करें।

कौन सी बीमारियां जोड़ो में दर्द की वजह है ?

  • “ऑस्टियोआर्थराइटिस” गठिया का सबसे आम रूप है जो हड्डियों से संबंधित समस्याओं को जन्म दे सकता है। हड्डियों से संबंधित यह समस्या उम्र बढ़ने के साथ आम है और ज्यादातर घुटनों, कूल्हों, गर्दन और पीठ के निचले हिस्से को प्रभावित करती है। 
  • सालों पहले लगी चोट भी कई बार आगे चलकर दिक्कत पैदा करती है। चाहे आपने उस चोट का इलाज कराया हो या न कराया हो, दोनों मामलों में इससे हड्डी से जुड़ी समस्या पैदा हो सकती है।
  • हाइपोथायरॉयडिज़्म यह एक तितली के आकार की ग्रंथि है जो आपकी गर्दन में सामने की तरफ मौजूद होती है। यह शरीर के लिए कई प्रकार के हार्मोन के उत्पादन के लिए जिम्मेदार है जो शरीर की चयापचय दर, मांसपेशियों और पाचन क्रिया, मस्तिष्क के विकास और हड्डियों के रखरखाव को विनियमित करती है। 

सुझाव :

हड्डियों या जोड़ो में दर्द की समस्या से निजात पाने के लिए कल्याण हॉस्पिटल से सम्पर्क करे। साथ ही इस हॉस्पिटल के डॉक्टरों के अनुभव की अगर बात करे तो 22 साल का है। वही इस हॉस्पिटल में मरीज़ो के इलाज के लिए आधुनिक उपकरणों का प्रयोग किया जाता है।

निष्कर्ष :

जोड़ो में किसी भी तरह की समस्या है तो इस समस्या से निजात पाने के लिए उपरोक्त बातो का खास ध्यान रखे और जल्द ही किसी डॉक्टर के सम्पर्क में आए। और किसी भी तरह की क्रिया को प्रयोग में लाने से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह ले।

About The Author

kalyan_new

No Comments

Leave a Reply